Protocol meaning in hindi | Types of protocols in hindi

नमस्कार दोस्तों आज मैं आपको प्रोटोकॉल के बारे में बताने वाला हूं। प्रोटोकॉल एक डिजिटल लैंग्वेज है। और आज हम Protocol meaning in hindi मे जानकारी लेंगे और प्रोटोकॉल एक सेट ऑफ रूल्स है मतलब कि किसी भी टेक्नोलॉजी को चलाने के लिए और उस टेक्नोलॉजी को नियंत्रित करने में मदद करता है।

दोस्तों अगर आप भी जाना चाहते है कि Protocol meaning in hindi, Types of protocols in hindi और कैसे काम करता है तो आप सही जगह पर आए है यहाँ पर आपको प्रोटोकॉल कि सभी जानकारी मिल जाएगी । 

चलिए प्रोटोकॉल के बारे मे बात करते है 

Protocol kya hai (Protocol meaning in hindi)

प्रोटोकॉल में नियम और प्रक्रिया होती हैं जिसका उपयोग करके कंप्यूटर एक दूसरे कंप्यूटर तक डाटा पहुंचाने का काम करता है और इसी के जरिए यूजर्स बात कर पाते हैं।

सभी कंप्यूटर को डाटा ट्रांसफर करने के लिए प्रोटोकॉल के नियमों और प्रक्रियाओं का पालन करना पड़ता है जिसके जरिए वह सभी प्रकार का डाटा एक दूसरे के साथ शेयर कर सकते हैं और इसके जरिए ही यूजर एक दूसरे से बात कर सकते हैं।

प्रोटोकॉल में बहुत प्रकार के प्रोटोकॉल नेटवर्क होते हैं जिसकी मदद से बहुत प्रकार के डिवाइस में बातचीत करने में मदद करती है जो एक अलग अलग नेटवर्क में होते हैं।

Protocol kya hai (Protocol meaning in hindi)

प्रोटोकॉल या दोनों कंप्यूटर के बीच डाटा को भेजता है और बातचीत करने की सुविधा प्रदान करता है जिसके जरिए दोनों यूजर बात कर सकते हैं।

जैसे कि अगर कोई भी एक इंसान दूसरे इंसान को कंप्यूटर के जरिए एक मैसेज भेजता है तो वह मैसेज को सही सलामत सुरक्षित जगह पर पहुंचाने का काम प्रोटोकॉल करता है और मैसेज को सुरक्षित रखने के लिए भी प्रोटोकॉल काम करता है

प्रोटोकॉल में बहुत प्रकार के नेटवर्क होते हैं और Protocol meaning in hindi, Types of protocols in hindi अच्छे से जानने के लिए हमें प्रोटोकॉल के प्रकार को जानना बहुत जरूरी है और प्रोटोकॉल कितने प्रकार के होते हैं ? यह जानकारी भी आज हम लेंगे।

Types of protocols in hindi 

1. Transmission Control Protocol (TCP)

2. Internet Protocol (IP)

3. Post Office Protocol (POP)

4. File Transfer Protocol (FTP)

5. User Datagram Protocol (UDP)

6. Simple Mail Transport Protocol (SMTP)

7.Hyper Text Transfer Protocol (HTTP)

8. Hyper Text Transfer Protocol Secure

9. Gopher

10. Telnet 

चलो इसके बारे मे पूरी जानकारी लेते है ।

Types of protocols in hindi

Transmission Control Protocol (TCP)

दोस्तों हम प्रोटोकॉल को Protocol meaning in hindi मे समझेंगे | Transmission Control Protocol सभी नेटवर्क पर बातचीत करने के लिए जाना जाता है और इस नेटवर्क पर बात और डेटा भेजने के लिए या काम में आता है और इसमें इस प्रोटोकॉल की मदद से एक जगह से दूसरी जगह तक अगर कोई मैसेज भेजना होता है |

तो एक डेस्टिनेशन से उस मैसेज को अलग-अलग संग्राम में समूह में उसको बांट दिया जाता है। उसके बाद दूसरी जगह भेजा जाता है और जब वह दूसरी जगह पहुंच जाता है तो वह मैसेज एक हो जाता है।

ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकोल को आप इंटरनेट प्रोटोकॉल भी कह सकते हैं और इंटरनेट पर बात करने के लिए प्रोटोकॉल के बहुत सारे लेयर होते हैं और इसी के जरिए  इंटरनेट पर बात कर सकते हैं।

ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकोल में सबसे ज्यादा चार प्रकार के लेयर प्रोटोकोल काम में आते हैं। 
जिसमें डेटा को एक जगह से दूसरी जगह तक सही सलामत पहुंचा सकते है

जैसे कि 
‌1. application layer (HTTP)
‌2. transport layer (TCP)
3‌. network layer (IP)
‌4. data link layer

इन 4 लेयर प्रोटोकोल की मदद से डाटा को एक जगह से दूसरी जगह तक पहुंचाया जा सकता है।

Internet Protocol (IP)

Internet Protocol यह ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकोल के साथ काम करता है और आई पी यह प्रोटोकोल को ऐड्रेसिंग करने के लिए ही बनाया गया है। इंटरनेट प्रोटोकॉल का मतलब है कि कोई भी मशीन कोई भी नेटवर्क कोई भी डाटा या कोई भी नोट्स जब टीसीपी से जुड़ते हैं तो उनको आईपी एड्रेस कहते हैं। 

जैसे कोई भी क्लाइंट और सरवर का डेस्टिनेशन और डाटा यह सब को पहचानने के लिए ip-address बन जाता है। 

Post Office Protocol (POP)

यह प्रोटोकॉल ईमेल के ऊपर काम करता है और इसका काम ईमेल को प्राप्त करना होता है अगर कोई यूजर कोई ईमेल भेजता है तो आपका कंप्यूटर उस इमेल को लेता है post office protocol के जरिये |

Simple Mail Transport Protocol (SMTP)

यह प्रोटोकॉल भी ईमेल पर काम करता है यह ईमेल को भेजने का काम करता है । अगर आप कोई भी ईमेल अपने कंप्यूटर और इंटरनेट के जरिए किसी दूसरे कंप्यूटर पर भेजते हैं तो यह प्रोटोकॉल उस ईमेल को दूसरी जगह तक पहुंचाने का काम करता है। ( यह भी पढ़े : Digital marketing kya hai  )

File Transfer Protocol (FTP)

FTP प्रोटोकोल हमारे लिए बहुत ही जरूरी प्रोटोकॉल है। इस प्रोटोकॉल की मदद से सभी यूजर्स अपना कोई भी डाटा दूसरे machine तक भेज सकते हैं 

जैसे कि उनका कोई डॉक्यूमेंट हो गया और उनकी कोई फाइल हो गई। उनकी कोई नोत हो गया और भी अलग प्रकार की फाइल और डाटा को भेजने का काम करता है यह प्रोटोकॉल ।

इसकी मदद से सभी यूजर्स इंटरनेट के जरिए अपने फाइल को दूसरे मशीन और दूसरी जगह भेज सकते हैं। इससे बहुत आसानी होती है यूजर को डेटा को भेजने के लिए !

User Datagram Protocol (UDP)

User Datagram Protocol यह एक connectionless protocol है और इसमें जयादा समय नहीं लगता है कोई भी डेटा को भेजने के लिए जबकि TCP मे जयादा समय लगता है अगर कोई छोटा संदेश भेजना हो तो udp का इस्तेमाल किया जाता है 

Hyper Text Transfer Protocol (HTTP)

HTTP tag यह् लिन्क् को बनाता है और एचटीटीपी यह प्रोटोकोल hypertext ट्रांसफर करने के लिए बनाया गया है दो और दो से ज्यादा सिस्टम में। 

मतलब समझो कि इसमें Client और web server होते हैं और अगर कोई क्लाइंट browser से कोई डेटा को सर्च ( request ) करता है तब web server डाटा ट्रांसफर ( response ) करता है। और यह डेटा hypertext मे ट्रांसफर करता है और यह  डेटा text यह image के रूप मे होता है । 

 ब्राउज़र और वेब सर्वर के बीच जो डाटा ट्रांसफर होता है, वह काम http करता है। Http यह unsecure डाटा प्रोटोकॉल है। इस प्रोटोकॉल में आपका डाटा चोरी हो सकता है क्योकि browser और web server के बीच जो डेटा ट्रांसफर होता है वाह  encrypt नहीं होता है | ( यह भी पढ़े : Battlegrounds Mobile India kaise download karen ? )

Hyper Text Transfer Protocol Secure (HTTPS)

HTTPS यह secure रहता है एचटीटीपीएस में ब्राउज़र और वेब सर्वर के बीच में जो डाटा ट्रांसफर होता है, वह डाटा encrypted होता है। उस डाटा को कोई भी चोरी नहीं कर सकता है और कोई भी पढ़ नहीं सकता है क्योंकि वह डाटा इंक्रिप्ट होता है 

Gopher

प्रोटोकॉल में नियम और नियंत्रण प्रक्रिया काम करती हैं और Gopher प्रोटोकॉल गया बातचीत करने के लिए बनाया गया है।

इस gopher प्रोटोकॉल में Distribution searching और retrieving प्रकार की प्रक्रिया काम करती हैं। 

Gopher प्रोटोकॉल को पहले दूसरे कंप्यूटर का डाटा देखने के लिए इस्तेमाल किया जाता था और यह प्रोटोकॉल से पहले texted डाटा को सपोर्ट करता था। उसके बाद या कुछ फोटो को भी सपोर्ट करने लगा जैसे कि Gif, Jpeg यह प्रोटोकॉल को University of Minnesota मे developed किया गया था | gopher यह client और server के बीच में काम करता था TCP और IP कि मदद से काम करता था । पहले www की जगह पर Gopher काम करता था। मगर Gopher बंद होने के बाद अभी www काम करता है।

Telnet

इसमें set of rules होता है | यह system को कनेक्ट करने के लिए बनाया गया था |

कोई सर्वर दूर है तो उस सर्वर मे data edit करने के लिए टेलनेट काम आता था

कौन सा Protocol internet mail के लिए इस्तेमाल करते है ?

इंटरनेट के जरिये ईमेल भेजने मे Post Office Protocol और Simple Mail Transport Protocol काम मे आता है

प्रोटोकल मे कुछ set of rules होते है जिसकी मदत से computer को data भेजने मे मदत मिलती है और इसकी मदत से computer एक दुसरे computer से communicate कर सकते है | बिना प्रोटोकॉल्स के इंटरनेट पर काम करना मुस्किल हो सकता है क्युकी प्रोतोक्ल्स हर जगह काम करता है जैसे कि ईमेल भेजने मे और कोई data इंटरनेट से डाउनलोड करने मे यह सभी काम मे प्रोटोकॉल काम आता है

और Transmission Control Protocol (TCP) और IP यह प्रोटोकॉल data ट्रान्सफर करने के लिए और बात काम आता है

प्रोटोकॉल किस काम मे आता है ?

Protocol meaning in hindi प्रोटोकल यह इंटरनेट पर दुसरे device पर बात करने के लिए काम आता है और कोई data एक computer से दुसरे computer मे भेजने के लिए काम आता है और प्रोटोकॉल बहुत secure होता है और इंटरनेट पर आपका data चोरी होने से बचाता है | प्रोटोकॉल मे नियम नियंत्रण रहता है जिसके जरिये इंटरनेट पर data ट्रान्सफर और बात कर सकते है | ( यह भी पढ़े Top 10 Best free stock photo sites in hindi )

5 नेटवर्क लेयर कौनसे है ?

प्रोटोकॉल मे set of rules होता है जो कि इंटरनेट पर बात और data ट्रान्सफर करने देता है और TCP/IP यह 5 नेटवर्क लेयर मे होते है जैसे कि

  • application layer (HTTP)
  • transport layer (TCP)
  • network layer (IP)
  • data link layer
  • physical

Internet protocol कैसे काम करता है ? Protocol meaning in hindi

Protocol meaning in hindi और कैसे काम करता है यह नियमो और प्रक्रिया के बहुत समूह को कहते है और बातचीत करने के लिए काम आता है

और सभी computer को प्रोटोकॉल के नियम का पालन करना पड़ता है और यह data ट्रान्सफर भी करता है

इनका इस्तेमाल data को सुरक्षित रखने के लिए किया जाता है जब कोई किसी data को डाउनलोड करते हो तो TCP प्रोटोकॉल काम मे आता है और server यह data को अलग अलग packet मे बाँट देता है उसके बाद क्लाइंट के पास data एक साथ चला जाता है और यह data secure रहता है

यह सभी काम मे application layer (HTTP), transport layer (TCP), network layer (IP), data link layer प्रोटोकॉल काम करता है

और भी दुसरे प्रकार के प्रोटोकॉल

1. Address Resolution Protocol (ARP)

2. Session lnitiation protocol (SIP)

3. Dynamic Host Configuration Protocol (DHCP) 

4. Real-Time Transport protocol ( IMAP4)

5. LayerTwo Tunnelling Protocol ( L2TP)

6. Resource Location Protocol (RLP)

7. Roate Access Protocol (RAP)

8. Trivial File Transfer Protocol (TFTP)

9. Simple Network Management Protocol (SNMP)

10. Point To Point Tunnelling Protocol (PPTP)

Conclusion

मैंने इस आर्टिकल मे Protocol meaning in hindi, Types of protocols in hindi के बारे मे जानकारी दिया हु

आसा करता हु आपको यह जानकारी पसंद आई होगी और इसे अपने परिवार और दोस्तों के साथ शेयर करे

शुक्रिया .

Spread the love

7 thoughts on “Protocol meaning in hindi | Types of protocols in hindi”

Leave a Comment