Permalink क्या है? | SEO Friendly Permalink कैसे बनाए?

Permalink को आप बहुत आसान शब्दों में समझ सकते हो जैसे की किसी जगह का पता का होना बहुत जरूरी है उसी तरह इंटरनेट पर आपके Web page का Permalink (URL) का होना बहुत जरूरी है.

आप को Permalink से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी यहां पर मिल जाएगी.

जैसे की परमालिंक क्या है?, परमालिंक के फायदे क्या है?, परमालिंक के फायदे क्या है? और Permalink Redirect कैसे करें? और ऐसी बहुत प्रकार की जानकारी की मदद से आपको परमालिंक को समझने में बहुत आसानी हो जाएगी.

किसी भी वेब पेज के लिए परमालिंक का होना बहुत जरूरी है तो चलिए अब हम नीचे समझते है परमालिंक के बारे में सभी प्रकार की जानकारी.

Permalink क्या है?

यह Permalink एक प्रकार का वेब एड्रेस होता है जिसके जरिए आप इंटरनेट पर किसी भी पेज, वेबसाइट पर जा सकते है और परमालिंक के जरिए सर्च इंजन को आपके वेब पेज के जानकारी मिल जाती है की वेब पेज किस जानकारी से संबंधित है.

और परमालिंक और permanent link को हम Web Address कहते है तथा परमालिंक को URL (Uniform Resource Locator) भी कहा जाता है और यह “http://” or “https://” से शुरू होता है और फिर (//) के बाद वेबसाइट नाम आता है और (/) के बाद आपका Permalink आता है और आपके पर्मालिंक को Slug कहते है.

इसके बाद आपके पेज में जो जानकारी होती है उसके बारे में कुछ शब्दों में लिखा जाता है जिसे Slug कहा जाता है और आपका Permalink जितना छोटा हो उतना अच्छा रहता है.

परमालिंक के फायदे क्या है?

यह परमालिंक के जरिए सर्च इंजन आपके वेब पेज को समझने में आसानी होती है और सर्च रिजल्ट में आपका वेब पेज को यूजर के Search Term के हिसाब से दिखाने के लिए आसानी होगी और इसके जरिए आपके वेब पेज पर ट्राफिक आता है.

एक Seo Friendly Permalink बनाने से वेब पेज गूगल के सर्च इंजन पर रैंक करने लगता है और इसके जरिए आपके वेबसाइट पर ऑर्गेनिक ट्रैफिक आती है क्युकी गूगल आपके वेब पेज के कंटेंट के बारे में बढ़ी आसानी से समझ जाता है.

और ऑर्गेनिक ट्रैफिक लाने के लिए और गूगल के सर्च इंजन पर रैंक करने के लिए सिर्फ SEO Friendly permalink का होना काफी नहीं है क्युकी सर्च इंजन पर Web page rank करने के लिए आपका कंटेंट भी अच्छा होना और SEO Friendly Content का होना बहुत जरूरी है.

Permalink Example बताए?

परमालिंक के Stracture को समझना बहुत आसान है और परमालिंक आपके SEO के लिए भी बहुत जरूरी है इसके लिए Website Term होते है.

यह permalink अलग अलग Stracture से आप अपने Website में इस्तेमाल कर सकते हो और चलिए अब हम पहले यह Permalink Stracture के बारे में बताएंगे जिसे आपके SEO के लिए बहुत अच्छा माना जाता है.

यह Permalink Example है.

  • https://helpsmeet.com/permalink

और परमालिंक दो प्रकार के होते है जैसे की पहला Website Name और दूसरा Slug (content’s Short Name) होता है और Domain से पहले जो http://, https://, www. होता है उसे Domain Protocol कहते है.

इसके अलावा Permalink अलग अलग प्रकार के होते है जैसे की

  • Plain – https://helpsmeet.com/?p=123
  • Day and Name -https://helpsmeet.com/2022/07/17/sample-post/
  • Month and Name – https://helpsmeet.com/2022/07/sample-post/
  • Numeric – https://helpsmeet.com/archives/123
  • Post Name – https://helpsmeet.com/sample-post
  • Custom Stracture – https://helpsmeet.com/%sample-post%/

SEO Friendly Permalink कैसे बनाए?

  • Domain में Https लगाए.
  • SEO Keywords लगाए.
  • URl छोटा रखे.
  • Stop Words इस्तेमाल नही करें.
  • Date और Year और अंक नही लगाए.
  • परमालिंक का Custom Stracture इस्तेमाल करे.
  • दो शब्दो के बीच जगह छोड़े.

SEO Friendly permalink

Domain में Https लगाए – जब आप डोमेन में Https लगा लेते है तो आपकी वेबसाइट Secure हो जाती है और इसके जरिए आपकी वेबसाइट की SEO अच्छी होती है और यूजर आपके वेबसाइट पर भरोसा करके कंटेंट को पढ़ते है और प्रॉडक्ट को खरीदते है.

SEO Keywords लगाए – जब आप Content Web Page का परमालिंक बनाते है तो उसमे आपके कंटेंट का Seo (Focus) Keywords जरूर लगाए जिससे सर्च इंजन को आसानी होगी आपके पेज को इंडेक्स और रैंक करने के लिए.

URl छोटा रखे – आपके कंटेट के परमालिंक को छोटा ही रखे इससे आपके SEO मे भी बहुत मदद होगी और URL (uniform resource locator) में आप ज्यादा से ज्यादा 2,083 characters तक लिख सकते हो.

Stop Words इस्तेमाल नही करें जब आप अपने कंटेंट का परमालिंक बनाते है तो उसमे Stop keywords इस्तेमाल नही करें जैसे की “the”, “is” “and”, ”the” , “in”, “or” “a” इस तरह के बहुत शब्द होते है.

Date और Year और अंक नही लगाए – आप परमालिंक लिखते है तो उस परमालिंक में Date और Year और कोई numbers नही इस्तेमाल करें क्युकी जब आप नंबर को परमालिंक मे इस्तेमाल नही करते है तो आपका Seo भी अच्छा होता है.

परमालिंक का Custom Stracture इस्तेमाल करे – आपके पोस्ट का परमालिंक स्ट्रैक्चर यह कस्टम होना चाहिए मतलब की Post Name के स्ट्रेक्चर जैसा होना चाहिए जिसमे डोमेन नाम के बाद आपके पोस्ट का नाम आता है जो आप परमालिंक में लिखते है.

दो शब्दो के बीच जगह छोड़े – आप जब कोई परमालिंक बनाते है और अपने कंटेंट के हिसाब से words लिखते है तो हर शब्द के बाद जगह (Space) छोड़े.

(यह बभी पढ़े: Long Tail Keywords क्या है और Keywords Research कैसे करें?)

Permalink Redirect कैसे करें?

जब आप कंटेंट का Heading (H1) लिखते है तो Automatically आपका परमालिंक बन जाता है जो हेडिंग में आपने लिखा होता है मगर आप इस परमालिंक को Change कर सकते हो और आपके लिए एक Paid और Free तरीका निचे दिया गया है.

अगर आप परमालिंक बदलना चाहते है तो इसके लिए मैं आपको Yoast Seo Plugin के बारे में बताऊंगा इसको इंस्टॉल करने के बाद आप अपना परमालिंक को Redirect कर सकते हो जिसकी मदद से आपकी वेबसाइट में 404 Error नही आयेगा मगर यह फीचर आपको Premium Version में मिलेगा.

और आपकी वेब पेज का Seo भी खराब नही होगी और कोई पुराने वाले लिंक पर कोई बैकलिंक मिली होगी तो वह लिंक भी नही हटेगा और आपके Seo पे कोई फर्क नही पड़ेगा इसके लिए जब आप परमालिंक बदल रहे है तो उसे Redirect (301) करना बहुत जरूरी है क्युकी अगर आप ऐसा नहीं करते है तो गूगल उस नया लिंक को New Page समझेगा. इसके लिए परमालिंक बदलने की पूरी जानकारी Step By Step नीचे दी गई है.

आप एक WordPress की फ्री Plugin के इस्तेमाल से भी पर्मालिंक को Redirect कर सकते हो अगर आप WordPress इस्तेमाल करते हो तो यह 404 to 301 – Redirect, Log and Notify 404 Errors नाम की Plugin Install करलो

404 to 301 permalink redirect

यह फ्री है और इसके जरिये आपके वेबसाइट में जो भी ब्रोकन लिंक होती है यह सभी लिंक को Redirect कर देती है आपके उस लिंक पर जो लिंक आप सेटिंग में Add करते हो और आप कोई भी लिंक को Manually भी Redirect कर सकते हो.

और पहले आप किसी भी वेब पेज और केटेगरी का पर्मालिंक WordPress के उस page और Category के पर्मालिंक में जाकर URL बदल दे फिर यह Plugin 404 to 301 – Redirect, Log and Notify 404 Errors में जाकर Errors में जाए.

Permalink Redirect plugin

और पुराने वाले लिंक में जाकर और Customization वाले आप्शन के Default पर क्लिक करके अपना नया लिंक दाल दे और फिर आपका लिंक Redirect हो जायेगा.

WordPress permalinks Stracture Change कैसे करें?

wordpress यह एक ऐसा CMS platforms है जिसे बहुत लोग इस्तेमाल करते है और इसमें permalink की सेटिंग भी दी गई है.

permalink Stracture

Permalink settings को चेंज करने के लिए आपको सबसे पहले “Setting” पर क्लिक करना है और फिर Permalink पर click करिए और फिर Post Name पर क्लिक करिए यह स्ट्रेक्चर में सिर्फ आपके पोस्ट से रिलेटेड इंफॉर्मेशन आती है जो आपने परमालिंक में इस्तेमाल किया होगा.

इसके अलावा और कोई भी जानकारी इस permalink stracture में नही आती है और यह सेटिंग आपके वेबसाइट पोस्ट और कैटेगरी के seo के लिए महत्वपूर्ण है.

FAQ (Frequently Asked Questions)

परमालिंक्स कैसा दिखता है?

परमालिंक कुछ इस तरह दिखता है. https://helpsmeet.com/permalink

वर्डप्रेस के फंक्शन के रूप में पर्मा लिंक्स क्या हैं?

परमालिंक आपके पोस्ट का एक वेब ऐड्रेस होता है जिसके जरिए सर्च इंजन को आपके पोस्ट को समझने में और रैंक करने में आसानी होती है.

HTML में Permalink क्या है?

परमालिंक यह कमसे कम शब्दो में आपके पोस्ट से संबंधित आपके पोस्ट का एक वेब ऐड्रेस होता है.

परमालिंक का उद्देश्य क्या है?

परमालिंक आपके पोस्ट को सर्च इंजन में दिखाने में और आपके पोस्ट के बारे में सर्च इंजन को समझने में आसानी होती है.

Conclusion

परमालिंक के जरिए आपके seo मे बहुत फायदा होता है और इसके जरिए सर्च इंजन में रैंकिंग पर आने के लिए भी मदद मिलती है और seo friendly permalink आपके कंटेंट के लिए बहुत अच्छा है और हमने आपको जो जानकारी परमालिंक से संबंधित जानकारी दी इसे दूसरे लोगो के साथ भी शेयर जरूर करें. आपका यह लेख पढ़ने के लिए शुक्रिया.

नीचे दिए हुए लेख भी पढ़े:

helpsmeet.com founder
Ashfak Mansuri

मेरा नाम अशफाक मंसूरी है, मैं एक साल से ब्लॉग्गिंग कर रहा हु और मैं मुंबई में रहता हु मैंने मुंबई यूनिवर्सिटी से B.com की डिग्री प्राप्त की है इसके साथ मैं Helpsmeet.com का Founder और Author हू.

Spread the love

Leave a Comment