Bitcoin कैसे काम करता है?

आजकल बित्कोइन सबसे जयादा जानकारी का विषय बन गया है और सभी लोग जानना छाते हैकि यह बित्कोइन क्या है और कैसे काम करता है तो आज मैं आपको इससे जुडी जानकारी निचे दिया हु आप पढ़ सकते है और बित्कोइन क्या है और कैसे काम करत है इसकी पोर्री जानकारी आपको निचे मिल जाएगी आप जरूर पढ़े और ये कौनसी currency है और इसके बारे मे पूरी जानकारी निचे दी गई है.

Bitcoin कैसे काम करता है?

Bitcoin के ऊपर किसी का control नहीं है जैसे हमारे indian rupees को हमारे bank और financial institute कंट्रोल करते है और जैसे indian rupees को RBI control करता है मगर Bitcoin को कोई कंट्रोल नहीं करता है ये एक Digital Asset है और 12 साल पहले 31st oct 2008 को एक शख्स जिसका नाम है Santoshi Nakamoto ने एक पेपर इंटरनेट पर डाला था.

वो पेपर पर साफ़ साफ़ लिखा था कि ये करेंसी peer to peer होगा मतलब कि इसमें किसी तीसरे सख्स कि जरूरत नहीं रहेगी और कोई तीसरा शख्स उशे control नहीं कर सकता है Santoshi Nakamoto का motive ये था कि peer to peer Electronic cash system मतलब ये कि जैसे हुम पैसे cash देते है वैसे हि इसे डिजिटल उसमे पैसे pay करे दुसरो को इसमें कोई दूसरा इंसान control नहीं कर सकता है.

तुम्हे पता है जब  Global Economics Crisis 2008 मे हुआ था उसके बाद Lehman Brothers कंपनी bankcrupt हो गई थी उसके बाद Cryptocurrency आई और सबसे पहले Bitcoin आया था उसके बाद lifecoin और Ripple जैसे बहुत Cryptocurrency आई |और ये पूरा काम Transaction क Internet पर होगा क्युकी ये digital asset है.

Bitcoin क्या है ?

सबसे पहले आपको बता दू Cryptocurrency को सपोर्ट करने वाले भी बहुत है और इसको सपोर्ट नहीं करने वाले भी बहुत | अभी ये Cryptocurrency कितनी है ? आपको बता दू बहुत सारे होते है और सबकी value अलग अलग होती है

मगर इसकी कुछ चीसे बरोबर होती है जैसे कि Supply होना ये कैसे काम करती है सब बरोबर होता है और और एक बित्कोइन कि कीमत कोई Institute बित्कोइन कि कीमत decide नहीं करत है |

मतलब ये कि ये पूरा इंसान के ऊपर है कब इसकी कीमत बढ़ेगी और कब घटेगी मतलब ये समझो कि DEMAND SUPPLY का नियम आजाता है मतलब कि डिमांड जयादा रहेगा तो कीमत बढ़ेगी और इसका उल्टा वैसे हि होता है |

और आपको बताना चाहूँगा कि Cryptocurrency जिस तरह ऊपर जाती है उशी तरह निचे भी आती है | और इसकी कीमत कोई decide नहो कर सकता है यह एक online transaction करने का एक mode of exchange है और इसके सभी transaction जो है block chain के जैसे होते है

Bill Gate, support करते है Cryptocurrency को मगर Warren Buffet इसे bubble कहते है | तुम सोच सकते हो ये लोग भी एक बात को लेके अंदाजा नहीं लगा पा रहे है तो आप बताओ क्या सोचते हो ? ( यह भी पढ़े : क्या हम instagram reels से पैसे कमा सकते है )

Bitcoin और दुसरे Currency का इस्तेमाल ?

जैसे दुसरे पैसो का उपयोग mode of exhange के लिए करते है वैसे हि Bitcoin का इस्तेमाल भी हम इशी तरह करते है | मगर Cryptocurrency को हम Internet के जरिये हि कर सकते है और क्युकी हम bitcoin को cash मे किसी को नहीं दे सकते है ये एक digital asset है.

इसका इस्तेमाल हुम होटल और भी बहुत जगह कर सकते है जहा पर Cryptocurrency को accept करते हो और foreign मे बहुत से होटल और बहुत जगह Cryptocurrency का इस्तेमाल करने लगे है और इंडिया मे बित्कोइन के लिए बैंकिंग सर्विस बनद करने कि बात चालू है ban करने के लिए बोल रहे है कि जल्दी हि बंद हो जायेगा |बित्कोइन कि value बढती है और घटती है.

Bitcoin physical नहीं है?

ये Cryptocurrency बाकी पैसो कि तरह नहीं है | bitcoin पूरा ये सब ऑनलाइन इंटरनेट पर हि सब काम होता है ये digital asset है | इसे हुम छू नहीं सकते है और न हि हाथ मे ले सकते है | इसको हमें ऑनलाइन हि transaction कर सकते है |

और ये international payment करने के लिए अच्छा है क्युकी ये 1 bitcoin को को मिनट मे कर देता है और वैसे ऐसे हि बहार कसी दुसरे mode से करते है तोह दो से तीन दिन लगता है transaction होने मे |

peer to peer without third party

आपको बता दू इसमें कोई तीसरा आदमी ओके पैसे को कंट्रोल नहीं करेगा | जो transaction दो इंसानों के बीच हि होगा क्युकी इशे कोई कंट्रोल नहीं करता है | इसमें सभी कंप्यूटर सर्वर रहते है और सभी क्लाइंट रहते है | निचे दिए फोटो के जरिये समझ लीजिये इसमें कोई तीसरा इन्सान नहीं है |

bitcoin peer to peer

ये समझो कि जैसे Indian Rupees को RBI कंट्रोल करता है हमारे सारे transaction को संभालता है मगर Cryptocurrency मे ऐस कोई third party कंट्रोल नहीं करत है इसको हि peer to peer कहा जाता है |

Fiat money क्या होता है?

fiat money के बारे मे बात करे तो वो होता है जो गवर्नमेंट के जरिये नोट्स छापे जाते है | पैसे को गवर्मेन्ट handle करती है और fiat money सरकार द्वारा जारी किया जाता है उसपे लिखा होता है पैसे क उपयोग कर सकते है मतलब गवर्नमेंट पैसे इस्तेमाल करने के लिए इजाजात देते है तोह उसे कर सकते है और उसपे सिग्नेचर होते है

Cryptocurrency काम कैसे करती है?

क्या कभी आपने भी सोचा है आखिर ये काम कैसे करता है ? cryptocurrency जो है ये block chain पे काम करत है | जैसे समझो इसके बहुत सारे users है वो सब पैसे क transaction करते है | सभी transaction जो होते है वो decentralized system से होते है और इनके ऊपर से हि बित्कोइन कि value का पता चलता है कि बढ़ रही है या घाट रही है | इसमें सभी लोग मिलके काम करते है

और cryptocurrency जिस तरह ऊपर जाती है उशी तरह ये निचे भी आती है | बित्कोइन सबसे जयादा Top Risk पर रहता है |और ये cryptocurrency ते mode of exhange है | और ये जो bitcoin transaction होते है सब ऑनलाइन होते है और इशे जो सँभालते है उशे Minors कहते है

minars का काम है transaction को verify करना है और जब बित्कोइन किसी को भेजा जाता है तो minars कन्फर्म करत है कि सही है या नहीं | और maths का Equation solve करता है |और ये पूरा काम computer पे होता है और उसके बाद बाकी computer से कन्फर्म करते है और ये transaction एक chain मे कन्वर्ट हो जाता है

अब इस technology को कहते है Block chain जैसे कि मेने आपको ऊपर पहले हि बता दिया हु | और मिनोर्स को ये काम करने के लिए bitcoin मिलता है और उन्हें दिखाना पड़ता है कि उनोने क्या काम किया है उसको Proof Of Work कहते है

Bitcoin के नुक्सान क्या है?

अगर मैं इसके नुकशान के बारे मे बात करू तो bitcoin के बहुत नुक्सान भी है जिसकी वजह से लोग बहुत लोग इसको पसंद नहीं करते है क्युकी इसमें fraud बहुत होता है और cryptocurrency को track कर पाना मुश्किल है | इसके लिए इसका उपयोग illegal काम मे होता है | बहुत लोग है जो cryptocurrency क उपयोग करके illegal काम करने लगे थे और होता है मगर ये रुकना चाहिए और बहुत से लोग है जो अपना पैसा छुपाने के लिए और tax pay नहीं करने के लिए cryptocurrency मे पैसे invest करते है |

cryptocurrency कभि भी निचे गिर सकता है इसलिए ये risk top पर आता है | इसलिए बित्कोइन को लेके चर्चा चालू रहती है हमेशा अभी इंडिया मे वापस bitcoin को हटाने कि बात चालू है एस अबोला जारा है कि ban हो जायेगा और इसके लिए बित्कोइन से बहुत लोगो को ठग लिया जाता है और उनसे पैसे लेके भाग जाते है और ऐसे हि कितने मामले सामने आते रहते है cryptocurrency को लेके क्युकी इसमें fraud बहुत होता है

Bitcoin मे हमें इन्वेस्टमेंट करना चाहिए ?

ये चीज़ आपके ऊपर निर्भर करत है कि आप Bitcoin को किस नजरिये से देखते हो क्युकी cryptocurrency को बहुत लोग सही सोचते है और बहुत लोग गलत बोलते है क्युकी इसमें fraud बहुत होता है और बाकी तो foreign मे बित्कोइन मे transaction चालू भी होगया है मगर ये आपको तय करना है कि ये गलत है कि सही क्युकी बढे बढे लोग भी कोई एक बात पे नहीं है तोह आप हि सोच्लो इसका अंदाजा लगा लो.

अगर बित्कोइन से ये fraud होना बंद हो गया और भी बहुत नुकशान है बित्कोइन से अगर ये होना बनद हो गया तो cryptocurrency इस्तेमाल करने के लिए अच्छा हो सकता है और इन्वेस्टमेंट करने के लिए औरे ये fraud बनद होना चाहिए.

Bitcoin मे investment कैसे करे ?

बित्कोइन के ऊपर इन्वेस्टमेंट करना फ्यूचर मे मेरे हिसाब से अच्छा हो सकता है अगर fraud बंद होजाए तो और ब्मागर ये बित्कोइन सबसे top पे है risk के कभि भी बित्कोइन कि value निचे गिर सकती है और ऊपर आ सकती है

बित्कोइन अभी के लिए सबसे महँगा digital asset है और बित्कोइन मे wazirx जैसे अप्प्स से इन्वेस्टमेंट शुरू कर सकते है पैसे इन्वेस्टमेंट करने के लिए wallet खोलना पड़ेगा आप किसी भी अप्प्स से खोल सकते है और उसमे से send और receive कर सकते है | जो cryptocurrency मे इन्वेस्टमेंट के लिए बनी हो उसपे आप वॉलेट खोले इन्वेस्टमेंट कर सकते है.

Who controls bitcoin price in hindi?

आप सोच रहे होंगे कि बित्कोइन के price कैसे ऊपर निचे होते रहते है तो आपको बता दू कि यह Supply or Demand पर काम करता है अगर बित्कोइन का Demand जयादा होगा तो बित्कोइन का price जयादा होगा अगर Demand कम हो जाता है तो price भी कम होजाता है कुछ इस तरीके से बित्कोइन का price increase और decrease हो जाता है.

Conclusion

इस पोस्ट मे bitcoin के बारे मे सभी जानकारी देने कि पूरी कोशिश कि है अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी है तो अपने दोस्तों और परिवार के साथ शेयर करें

शुक्रिया.

निचे दिए हुए लेख भी पढ़े.

Spread the love

5 thoughts on “Bitcoin कैसे काम करता है?”

Leave a Comment